एकपादासन कैसे करते हैं?

0
66
ekpadasan kaise krte hain

Ekpadasan kaise krte hain? 

इस आसन में किसी एक पैर पर खड़ा होना होता है,इसीलिए इसे एकपादासन कहते हैं।

एकपादासन कैसे करते हैं और उसकी विधि:-

सर्वप्रथम भूमि पर अपने दोनों पैरों के साथ सीधे खड़ा हो जाए। फिर रेचक करके सांस धीरे-धीरे बाहर निकाल दें।उसके बाद अपने किसी एक पैर को घुटने से मोड़कर दूसरे पैर के जांघ के मूल स्थान या जंघामूल पर रखें और अपने कुंभक को कायम रखते हुए,अपने दोनों हाथों के अंगूठे के नजदीक वाली उंगली को अंगूठे के मूल स्थान में लगाकर रखें। फिर दोनों हाथों को अपने सिर के बिल्कुल सीध में सीधा रखें। नयन की दृष्टि बिल्कुल सामने रहे। पैर बदलते वक्त रेचक (पूरक) गहराई से किया जाता है।

एकपादासन करने के लाभ:-

🔵इस आसन से मन को शांति मिलती है।

🔵कंसंट्रेशन पावर और फोकस करने की क्षमता को बढ़ाता है।

🔵 भक्ति में मन लगा रहता है।

🔵 पैर मजबूत व शक्तिशाली बनते हैं।

🔵 इस आसन से सिद्धि प्राप्त किया जा सकता है और यह आसन सिद्धि प्राप्त करने के लिए प्रसिद्ध है।

नीचे दिए गए विडिओ से आप एकपादासन कैसे करते हैं देख सकते हैं

 

Video Source – Youtube | Video By – FitVit

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here